असली प्रेम की निशानी तो रामसेतु है

कल तक मैं समझता था कि ताजमहल प्रेम की निशानी ही। लेकिन असली प्रेम की निशानी तो रामसेतु है जो भगवान श्री राम ने सीता मा से मिलने के लिए बनाया था।

Related posts

Leave a Reply